| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Dec 28th, 2020
    nagpurhindinews / News 2 | By Nagpur Today Nagpur News

    सरकारी लापरवाही: पहले किसान के खाते में सन्मान निधि भेजी और अब 7 दिन में वापस करने का नोटिस

    वर्धा – जहां एक ओर किसान कृषि कानून रद्द करने की मांग को लेकर पिछले महीने से दिल्ली में धरना प्रदर्शन कर रहे है तो वही दूसरी ओर किसान से उसके बैंक खाते में डाली गई किसान सन्मान निधि योजना के अन्तर्गत 8 हजार रुपए को वापस करने के लिए नोटिस भेजा गया है. नोटिस में यह भी सूचित किया गया है कि 7 दिनों के भीतर रकम जमा नही करने पर वसूली की कार्रवाई भी की जाएगी.

    यह मामला वर्धा जिले के सेलू तहसील में स्थित पलसगांव का है. यहां पर रहनेवाले किसान सुधाकर बालकृष्ण किटकरु को सेलू तहसील कार्योलय के तहसीलदार की तरफ से नोटिस भेजा गया है. इस नोटिस में कहा गया है कि प्रधानमंत्री किसान सन्मान निधि योजना के अंतर्गत आपके बैंक अकाउंट 10103976673 में 2 हजार रुपए,ऐसे कुल मिलाकर 4 महीने के 8 हजार रुपए सुधाकर किटकरु के अकाउंट में डाले गए है. लेकिन शासन नियमानुसार में आपका नाम इस योजना में अपात्र घोषित किया गया है. जिसके कारण आपके बैंक खाते में डाली गई रकम गांव के तलाठी को नोटिस मिलने के 7 दिनों के भीतर दे और उनसे रसीद प्राप्त करे.

    तहसीलदार द्वारा भेजे गए इस नोटिस में यह भी कहा गया है कि 8 हजार रुपए अगर नही भरे, देर की या टालमटोल किया तो नियम के अनुसार वसूली की कार्रवाई की जाएगी.

    जानकारी के अनुसार वर्धा जिले में कई लोगों को इस तरह के नोटिस भेजे गए है. अब देखनेवाली बात यह है कि अगर यह किसान अपात्र थे, तो इनके खातों में रकम गई कैसे? गांव के तलाठी के पास से ही गांव के किसानों की जांच के बाद उसके कागजात तहसील ऑफिस जाते है और वही से यह निश्चित होता है कि कौन योजना का लाभ लेने के लिए पात्र है और कौन अपात्र . अब ऐसे में यह सवाल यह उठता है कि क्या इस मामले में तहसील ऑफिस अपने स्तर पर खुद की ही निष्पक्ष जांच करेगा , या फिर किसानों को नोटिस भेजकर अपना दामन साफ दिखाने का कार्य करेगा. यह देखना दिलचस्प होगा.

    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145