| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sun, Jan 17th, 2021
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    गोंदिया: जुर्म के खिलाड़ी कच्चे निकले

    मर्डर केस के 4 आरोपी सलाखों के पीछे

    गोंदिया. शहर के रिंग रोड स्थित सहयोग हॉस्पिटल के कंपाउंड के अंदर (पार्किंग स्टैंड) के पास 14 जनवरी की देर रात लोधीटोला निवासी रविप्रसाद राधेलाल बंभारे (34) की आपसी पुरानी रंजिश को लेकर तलवार, चाकू, गुप्ती से सपासप वार करते हुए निर्मम हत्या कर दी गई ,यह सारा मामला अस्पताल के सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गया , वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारे मौके से फरार हो गए थे।

    रामनगर पुलिस ने इस प्रकरण के संदर्भ में फिर्यादी राजु राधेलाल बंभारे (33 रा. लोधीटोला /धापेवाड़ा) की शिकायत पर धारा 302, 34 का जुर्म दर्ज किया।

    आरोपियों की धरपकड़ हेतु जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे के मार्गदर्शन में लोकल क्राइम ब्रांच, रामनगर पुलिस व शहर पुलिस इस तरह 3 अलग-अलग टीमें तैयार करते हुए आरोपियों की तलाश शुरू की गई, इस दौरान आरापियों के महिंद्रा स्कार्पिओ वाहन क्रं. एमएच 14/वाय. 7777 में सवार होकर पांगड़ी जंगल में दाखिल होने की पुख्ता जानकारी पुलिस के हाथ लगी। तत्काल एक्शन लेते हुए पुलिस टीम मौके पर पहुंची जहां खर्रा पहाड़ी के निकट सफेद रंग का स्कार्पिओ वाहन दिखायी दिया। पुलिस ने चारों ओर से परिसर को घेरते हुए गाड़ी में बैठे आरोपी- श्याम उर्फ पिंटी चाचेरे (32 रा., बाजपेयी चौक), शुभम उर्फ परदेशी चौव्हान (29 रा. गौशालावार्ड), शाहरूख शेख (23 रा. गौतमनगर), प्रशांत उर्फ छोटा कालू भालेराव (40, बाजपेयी वार्ड) को धरदबोच लिया।

    उक्त कार्रवाई जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी के मार्गदर्शन में उपविभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे, एलसीबी के पुलिस निरीक्षक महेश बंसोडे, रामनगर थाना प्रभारी प्रमोद घोंगे, एलसीबी उपनिरीक्षक तेजेंद्र मेश्राम, अभयसिंह शिंदे, सउपनि लिलेंद्र बैस, गोपाल कापगते, पो.ह. अर्जुन कावड़े, राजेंद्र मिश्रा, राजेश बढ़े, देशमुख, कृपाण, पो.ना. कोडापे, तुरकर, रियाज शेख, संदीप वंजारी, रेखलाल गौतम, तुलसीदास लुटे, महेश मेहर, अजय रहांगडाले, बिसेन, सुजाता गेडाम, चापोका पंकज खरवडे, विनोद गौतम, मुरली पांडे की ओर से सफलतापूर्वक की गई।

    रेत माफियाओं पर कसेगा शिकंजा, गुण्डागर्दी खत्म होगी- पानसरे

    आयोजित पत्र परिषद में जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे ने जानकारी देते बताया, सहयोग हॉस्पिटल के प्रागंण में हुए मर्डर की गुत्थी पुलिस ने 24 घंटे के भीतर सुलझाते हुए 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

    वारदात के बाद घटनास्थल को हमने भेंट दी और अस्पताल के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला उसमें आरोपियों के चेहरे दिखायी दे रहे थे, आरोपियों को एसडीपीओ जगदीश पांडे ने पहचान लिया, सभी के नाम सामने आ गए जिसके बाद अलग-अलग टीमें उनकी धरपकड़ हेतु भेज दी गई तथा सभी 8 चेक पोस्ट पर नाकाबंदी लगा दी गई।

    आरोपी अपना वाहन छोड़ ट्रेन से भी फरार हो सकते है, इस संभावना के चलते रेलवे जीआरपीएफ व आरपीएफ पुलिस को भी सूचित किया गया। लोकल क्राइम ब्रांच निरीक्षक महेश बंसोड़े तथा पीएसआई मेश्राम की टीम ने अपराधी कहां-कहां छुपे हो सकते है, इस बाबद जानकारी इक्कठी की, पुख्ता सुराग हाथ लगने के बाद खर्रा पहाड़ी के निकट जंगल इलाके में देर रात दबिश दी गई, इस दौरान कच्ची सड़क के नीचे एक सफेद रंग की गाड़ी खड़ी दिखायी दी , उसे घेर लिया गया, आरोपी गाड़ी में ही लेटे हुए थे, उन्हें धरदबोचा गया।

    पुलिस अधीक्षक ने बताया, हत्या में चाकू गुप्ती, तलवार सहित अन्य घातक हथियार का इस्तेमाल भी हो सकता है ? बहरहाल यह पीएम रिपोर्ट से साफ होगा और सारे मामले की तहकीकात की जाएगी?

    अपराधी जिस वाहन से आए वह गाड़ी मुख्य आरोपी श्याम चाचेरे उर्फ पीटी की है।

    पकड़े गए आरोपियों पर पहले भी दर्जनों संगीन अपराध दर्ज है।

    किसी भी पुलिस ऑफिसर का कर्तव्य होता है कि, वह अपने इलाके में रेत तस्करी जैसे अवैध धंधों पर शिंकजा कसे।
    पुलिस अधीक्षक ने कहा- मेरा मीडिया के माध्यम से आम जनता से अनुरोध है कि, वह पुलिस को जानकारी उपलब्ध कराए, हम यहां की गुण्डागर्दी खत्म करेंगे।

    -रवि आर्य

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145