| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Dec 21st, 2020
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    गोंदिया: पत्नी के चरित्र पर संदेह के चलते , 2 माह की मासूम बेटी की हत्या

    पालने में सो रही बेटी को उठाकर जमीन पर दे पटका

    गोंदिया जिले के अर्जुनी मोरगांव तहसील के ग्राम खामखुर्रा में एक शक्की पति ने पत्नी के चरित्र पर संदेह के चलते उसकी पिटाई करते हुए पालने में सो रही 2 माह की मासूम बेटी को उठाकर जमीन पर दे पटका जिससे बच्ची की मृत्यु हो गई।

    निर्दयी पति की यह करतूत देखकर पत्नी चीख पड़ी , आवाज सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और उन्होंने आरोपी की पकड़कर जमकर धुनाई कर दी अब इस प्रकारण के संदर्भ में पुलिस में 23 वर्षीय फरियादी पत्नी के शिकायत पर 34 वर्षीय निर्दयी आरोपी पति के खिलाफ जुर्म दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

    घटित प्रकरण के संदर्भ में अर्जुनी मोरगांव थाना प्रभारी महादेव तोंदले ने जानकारी देते कहा-घटना खामखुर्रा में घटित हुई आरोपी यह केशोरी थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम करांडली का निवासी है जो मायके में डिलीवरी हेतु आई अपनी पत्नी से मिलने को 18 दिसंबर की शाम ग्राम खामखुर्रा आया था।
    आरोपी पति ने पत्नी के चरित्र पर सवालिया निशान उठाया जिससे दोनों के बीच कहासुनी शुरू हो गई विवाद बढ़ा तो गुस्से में आकर पति ने पत्नी के साथ मारपीट की और उसे धक्का देते हुए गिरा दिया तथा रस्सी के पालने में सो रही 2 माह की नन्ही बेटी को उठाकर जोर से जमीन पर पटक दिया ‌ था मासूम बच्ची के सिर और माथे पर चोट लगने से उसे इमरजेंसी एंबुलेंस द्वारा अर्जुनी मोरगांव ग्रामीण अस्पताल ले जाया गया , बाद में उसे आगे के उपचार हेतु भंडारा जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया जहां इलाज के दौरान 19 दिसंबर को मासूम बच्ची की मृत्यु हो गई।

    भंडारा जिला अस्पताल में शव के पोस्टमार्टम पश्चात विसेरा सुरक्षित रखा गया है।

    फरियादी पत्नी के शिकायत पर आरोपी पति के खिलाफ धारा 302 , 323 , 506 का जुर्म दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

    शक्की व्यवहार की वजह से नहीं थी आरोपी की कोई ससुराल में इज्जत
    पुलिस के मुताबिक आरोपी पेशे से मजदूरी करता है और वह तिब्बतियों के साथ स्वेटर बेचने के लिए जाता है शादी के बाद से उसके शक्की व्यवहार की वजह से ससुराल में उसको कोई इज्जत नहीं देता था, जिस वक्त यह हृदय विदारक घटना घटित हुई उस वक्त कमरे में प्रत्यदर्शी के रूप में फरियादी की बहन अर्थात आरोपी के साली भी मौजूद थी जो घटना की चश्मदीद है।

    वारदात के बाद आरोपी मौके से भागा नहीं और गंभीर जख्मी बच्ची के उपचार के लिए अर्जुनी मोरगांव ग्रामीण अस्पताल आया बाद में भंडारा जिला अस्पताल में भी मौजूद था और पोस्टमार्टम के वक्त भी साथ था तथा बच्ची के अंतिम संस्कार के वक्त भी वहां मौजूद था ,जिसे बाद में पुलिस ने गिरफ्तार किया , मामले के आगे की जांच थाना निरीक्षक महादेव तोंदले कर रहे हैं ‌

    रवि आर्य

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145