Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Thu, Jan 28th, 2021

    गोंदिया: 142 करोड़ की महत्वकांक्षी भूमिगत बिजली लाइन को मिली मंजूरी

    डीपीडीसी के बैठक में पूर्व मंत्री डॉ.परिणय फुके ने उठाए कई अहम मुद्दे

    गोंदिया आज 27 जनवरी बुधवार को जिलाधिकारी कार्यालय के जिला नियोजन सभागृह में पालकमंत्री अनिल देशमुख की अध्यक्षता में आयोजित डीपीडीसी की बैठक में पूर्व पालकमंत्री व विधायक डॉ. परिणय फुके ने महत्वपूर्ण मुद्दों पर सदन का ध्यानाकर्षण कराया।

    पूर्व मंत्री फुके ने कहा- हाल ही में भंडारा जिला अस्पताल में भीषण अग्निकांड में 10 नवजात बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। इस घटना की पुनरावृत्ति गोंदिया में ना हो, तद्हेतु जिला शासकीय अस्पतालों में सुरक्षा की दृष्टि से फायर ऑडिट व इक्विपमेंट की व्यवस्था का खास ख्याल रखा जाना चाहिए।

    डॉ. फुके ने आगे कहा- 142 करोड़ रुपयों की लागत की महत्वाकांक्षी भूमिगत बिजली लाइन का कार्य रूका पड़ा है, जिसे तत्काल प्रभाव से प्रारंभ किया जाना चाहिये।

    पर्यावरण की दृष्टि से पिछली सरकार के दौरान सामाजिक वनीकरण विभाग के माध्यम से 13 करोड़ रूपये खर्च किये गए, जबकि वर्तमान सरकार पर्यावरण को लेकर कोई निधि नही खर्च कर रही।

    धान खरीदी केंद्र बंद होने से किसानों को हो रहा आर्थिक नुकसान

    धान उत्पादक किसानों का मुद्दा उठाते डॉ. परिणय फुके ने कहा- धान खरीदी केंद्र अत्यधिक जगह बंद होने से किसानों का धान खराब हो रहा है, सरकार की इतनी विलंबता का खामियाजा किसानों को आर्थिक रूप से कमजोर कर रहा है। साथ ही राइस मिल मालिक धान मिलिंग के संदर्भ को लेकर हड़ताल कर रहे है, पर सरकार कोई पर्यायी कदम नही उठा रही।
    अनेक कार्यो के लिए खर्च होने वाली निधि का उपयोग नही किया, प्रशासन इस विकास निधि में कमजोर दिखायी पड़ रहा है, जिससे विकास कार्य रूके हुए है।

    नवेगांव-नागझिरा वन्य जीवों के अभ्यारण्य को देखने पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है, पर अभ्यारण्य के चोरखमारा गेट को जाने वाली सड़क खस्ताहाल होने से पर्यटकों में कमी आयी है।

    इन सभी मुद्दों पर पालकमंत्री अनिल देशमुख ने ध्यानकेन्द्रित कर उपस्थित अधिकारियों से जवाब मांगा, तथा अस्पतालों में सुरक्षा की दृष्टि से फ़ायर इक्विपमेंट की व्यवस्था करने व उसे सुधारित करने के निर्देश जारी किए। साथ ही 142 करोड़ की लागत के भूमिगत बिजली लाइन को मंजूरी देकर इसे त्वरित शुरू करने के आदेश दिए। पर्यटन के लिए चोरखमारा गेट को जाने वाले रास्ते के निर्माण को मंजूरी दी गई, वही सभी सोसायटी के माध्यम से धान खरीदी प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए। धान मिलर्स के मुद्दों को हल करने के भी अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए गए।

    डीपीडीसी की बैठक में राज्यसभा सांसद प्रफुल पटेल, अशोक नेते, विधायक विजय रहांगडाले, विनोद अग्रवाल, अभिजीत वंजारी, सहेसराम कोरोटे, मनोहर चन्द्रिकापुरे, जिलाधिकारी दीपककुमार मीणा, जि.प. सीईओ डांगे, पोलिस अधिक्षक विश्‍व पानसरे आदि प्रमुखता से उपस्थित थे।

    -रवि आर्य


    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145