Published On : Tue, Nov 14th, 2017

बहादुरा के पास गोलीबारी, 3 हमलावरों ने किया नगरधने परिवार पर हमला परिवार के एक सदस्य पर चाकू से हमला

हवा में 2 और जमीन पर एक गोली फायर; पुलिस को कारतूस के 3 जिंदा और 3 खाली खोखे मिले

नागपुर: उमरेड रोड सक्करदरा पुलिस थानांतर्गत बहादुरा परिसर में बीती रात 3 हमलावरों ने नगरधने परिवार के घर हमला कर गोलीबारी कर दी। साथ ही हमलावरों के अनाचनक हमले के दौरान उनके बेटे भावेश नगरधने के पेट में चाकू से वार कर दिया। इस हमले में वह भी जख्मी हो गया है। नगरधने परिवार की बहादुरा व आसपास के परिसर में खेती की बड़ी जमीने हैं। इस खेत जमीन में ही उनका मकान है। मकान से सटकर ही परिवार द्वारा बनाया गया शिवमंदिर भी है जहां कई श्रध्दालु दर्शन के लिए आते हैं। लेकिन इस हमले के बाद घर में खून पसरा दिखाई दिया।

नगरधने कई सालों से बहादुरा परिसर निवासी हैं। नगरधने परिवार के मुखिया संजय नगरधने हैं। वे अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ यहां रहते हैं। गोलीबारी और हमले की घटना का पता चलते ही पुलिस सक्रीय हो उठी और हमलावरों की खोज में जुट गई। लेकिन हमलावरों का अब तक कोई अता पता नहीं चल पाया है। खास बात यह है कि बहादुरा परिसर में नगरधने परिवार की कई खेत जमीनें हैं। संभवत: प्रापर्टी विवाद को भी इस हमले के पीछे की वजह होने का संदेह जताया जा रहा है।

संजय नगरधने यह सब्जी विक्रेता है। महल में उसकी सब्जी की दुकान है। जिसमें उसका बड़ा बेटा भावेश भी उनकी मदद करता है। साथ में भावेश प्राइवेट कार चलाने का काम भी करता है। घटना के समय परिसर में एक संदिग्ध इनोवा कार भी परिसर में दिखाई देने की बात सामने आ रही है। घटना के बाद यह कार गायब हो गई। पुलिस सूत्रों के नुसार इस गोलीबारी की दूसरी वजह पुलिस खोजने में जुटी है। पुलिस को सूचना मिली है कि भावेश की एक प्रेमिका नंदनवन परिसर में रहती। उसकी शादी भावेश से होने वाली थी लेकिन परिवार को यह मंजूर नहीं था। भावेश की प्रेमिका को कोई और आकाश नाम का युवक प्यार करने लगा था। लेकिन भावेश की प्रेमिका सिर्फ भावेश से ही प्यार करती थी। भावेश को कुछ दिनों से धमकियां मिल रही थी। तीन दिन पहले भावेश की प्रेमिका ने खुद के हाथ की नस काट ली थी। पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है।

सक्करदरा पुलिस थाने में आला अधिकारियों की बैठक भी हुई। जिसमें जॉइंट कमिश्नर शिवाजी बोडखे, एडिशनल कमिश्नर दिगावकर, डीसीपी क्राईम संभाजी कदम, डीसीपी झोन 4 एस चैतन्य का समावेश है। बैठक में मामले की तफतीश जल्द कर हमलावरों के धरपकड़ के लिए मार्गदर्शन किया गया। गोलीबारी जैसी घटना तीन दिन में दूसरी बार शहर में दोहराई गई है। इससे नागरिकों में भय का वतावरण पनपता जा रहा है। पुलिस हमलावरों और हमले की वजह का कारण पता करने में जुटी हुई है। पुलिस दावा कर रही है जल्द से जल्द इस फायरिंग की गुत्थी सुलझा लेगी।

Stay Updated : Download Our App
Sunita Mudaliar - Executive Editor
Advertise With Us