Published On : Thu, Apr 20th, 2017

आमदार निवास में किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म - सराफा व्यवसायी सहित दो आरोपी गिरफ्तार, भोपाल घूमने जाने का किया था बहाना

Advertisement
Sandeep
0 min read

MLA Hostel, Amdar Niwas
नागपुर: 
शहर के गिट्टीखदान क्षेत्र की एक किशोरी के साथ सिविल लाइंस स्थित आमदार ( विधायक ) निवास में सामूहिक दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है । पीडिता के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने राजनगर संकुल मानकापुर निवासी 19 वर्षीय आरोपी रजत तेजलाल मद्रे और दिनशा फैक्ट्री के पास रहने वाले 44 वर्षीय मनोज विनोद भगत के खिलाफ मामला दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों को गुरुवार को ही अदालत में पेश किया गया जहाँ से उन्हें 24 अप्रैल तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक पीड़िता को आरोपी मनोज ने परिवार के साथ भोपाल घूमाने ले जाने के बहाने से बुलाया था। पर उसे भोपाल न ले जाते हुए विधायक निवास की पहली विंग की इमारत में तीसरी मंजिल पर कमरा नंबर 320 में ले जाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पीड़िता के अनुसार कार को विधायक निवास की पार्किंग में खडी करने के बाद पहली बार कार में उसके साथ दुष्कर्म किया गया।

गिरफ्तार आरोपियों में से मनोज भगत सराफा व्यापारी है। प्रकरण की जांच कर रही महिला पुलिस अधिकारी ने बताया की मनोज भगत गिट्टीखदान इलाके में पी बी ज्वेलर्स नाम से दुकान चलता है। उसकी दुकान में 17 वर्षीय पीड़िता करीब डेढ वर्ष से काम कर रही है। मनोज का पीड़िता के साथ परिवार जैसा व्यवहार हो गया था। 13 अप्रैल को मनोज भगत पीड़िता के घर गया और उसने उसकी मां से मुलाकात करने क बाद उन्हें बताया की उसका परिवार भोपाल घूमने जा रहा है। वह उनकी बेटी को भी परिवार के साथ ले जाना चाहता है। पीड़िता की माँ ने जान पहचान होने की वजह से उसे जाने की अनुमति दे दी। 14 अप्रैल को पीड़िता शाम करीब 7.30 बजे घर से निकली। रास्ते में मनोज उसे अपनी कार में बैठाया। कार में मनोज के साथ रजत मद्रे भी बैठा था। दोनों उसे सिविल लाइंस स्थित विधायक निवास ले गए। मनोज ने विधायक निवास परिसर में पहली इमारत की तीसरी मंजिल पर 14 अप्रैल को पहले से ही कमरा बुक कर लिया था। किशोरी को विधायक निवास लेकर पहुंचने के बाद कार पार्किंग में खडी कर पहले वहाँ उसके साथ दुष्कर्म किया गया । उसके बाद उसे बुक कमरे में जाया गया । जहाँ उसके साथ 16 अप्रैल तक कमरे में रखकर उसके साथ अत्याचारकिया गया।

16 अप्रैल को रजत ने अपनी मोटरसाइकिल पर पीड़िता को उसके घर के पास सुबह करीब 9 बजे छोड दिया। जिसके बाद 17 अप्रैल को दोपहर करीब 12 बजे शराब के नशे में धुत होकर पीड़िता के घर पहुँचा। उसनेकिशोरी की मां से कहाँ की उनकी बेटी उसके साथ भोपाल नहीं गई थी। मनोज के जाने के बाद पीड़िता अचानक घर से गायब हो गई। उसकी मां दोपहर करीब 1 बजे गिट्टीखदान थाने पहुंची। उसने पुलिस को बताया कि मनोज भगत उसके घर पर आया था। उसकी बेटी के बारे में अनाप शनाप बातें की, जिसके बाद उसकी बेटी घर से गायब हो गई। शिकायत पर तत्काल हरकत दिखाते हुए पुलिस ने उसकी बेटी के मोबाइल को ट्रैक कर लाेकेशन उसका लोकेशन पता लगाया । मोबाइल फ़ोन की ट्रैकिंग में पीड़िता के काटोल रेलवे स्टेशन होने की जानकारी पुलिस को लगी। पुलिस का एक दल फ़ौरन वहाँ पहुँचा। और लड़की को खोजकर उसे उसके घर लाया। पुलिस ने पीड़िता से पूछताछ की जिसमे उसने उसके साथ हुए घटनाक्रम का विवरण दिया जिसके बाद दोनों आरोपियों को धर दबोचा गया।

Comments

Stay Updated : Download Our App